कर्मचारी निरीक्षण एकक

कर्मचारी निरीक्षण एकक पदों का युक्तिशसंगत बनाए जाने और निष्पािदन मानक एवं कार्य प्रतिमान तैयार करने के प्रयोजन से निरीक्षण कार्यक्रम के माध्यरम से सरकारी प्रतिष्ठातनों/संगठनों की स्टाफिंग की समीक्षा करने के उद्देश्य से वर्ष 1964 से कार्य कर रहा है। कर्मचारी निरीक्षण एकक दक्षता त्यािगे बगैर संगठनात्मनक प्रभाविता सुधारने के लिए कार्य को सरल बनाने की विधि ढूंढता भी तलाशता है। कर्मचारी निरीक्षण एकक संबंधित संगठन के प्रमुख द्वारा गठित समिति में एक मुख्य सदस्य के तौर पर वैज्ञानिक और तकनीकी संगठनों का अध्ययन करता है।

स्वमच्छय भारत कोष

स्कूुलों सहित ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में साफ-सफाई के स्ततर में सुधार लाने के उद्देश्य9 से इस कोष की स्थाीपना की गई है। अभिनव/विशिष्ट् परियोजनाएं की सहायता करने के लिए भी इसे समर्थ बनाया जाएगा और शुरुआत में बालिका शौचालयों को प्राथमिकता दी जाएगी। मोटे तौर पर इस कोष से निम्नगलिखित कार्यों के लिए धन मुहैया कराया जाएगा:

  • ग्रामीण क्षेत्रों, शहरी क्षेत्रों में, प्राथमिक, माध्यीमिक एवं वरिष्ठर माध्य मिक सरकारी विद्यालयों, आंगनवाड़ियों (वे केन्द्रम जो महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की एकीकृत बाल विकास योजना के तहत 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों उनकी माताओं को सहायता प्रदान करते हैं) में सामुदायिक/अलग-अलग शौचालयों का निर्माण।
  • प्राथमिक, माध्य मिक एवं वरिष्ठक माध्य मिक सरकारी सकूलों, आंगनवाड़ियों में बंद पड़े सामुदायिक/अलग-अलग शौचालयों का नवीकरण और मरम्म त;
  • निर्मित शौचालयों में जल आपूर्ति के लिए निर्माण कार्य;
  • निर्मित शौचालयों के रखरखाव में मदद करने और इनका स्वामस्य्ी शिक्षा के साथ इसे जोड़ा जाना सुनिश्चिंत किए जाने के लिए प्रशिक्षण एवं कौशल विकास।
  • ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन सहित ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्वपच्छकता एवं साफ-सफाई में सुधार के अन्ये प्रयास।
  • सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार देश में स्वंच्छाता में सुधार का कोई अन्यव कार्यकलाप।
  • इस कोष के लिए दान "कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 135 की उप-धारा (5) के तहत कारपोरेट सामाजिक उत्तिरदायित्वद" के तहत आते हैं। "कारपोरेट सामाजिक उत्तकरदायित्वउ" के लिए खर्च की राशि से भिन्न‍ दान, आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 जी के तहत 100% कटौती के पात्र हैं।