हमारे विभाग के बारे में

व्यय विभाग केंद्र सरकार में सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली की निगरानी करने और राज्य वित्त से जुड़े मामलों के लिए नोडल विभाग है। यह वित्त आयोग और केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के कार्यान्वयन, लेखापरीक्षा टिप्पणियों/अभ्युवक्ति यों की निगरानी, केंद्र सरकार के लेखाओं को तैयार करने के लिए जिम्मेदार है। यह सार्वजनिक सेवाओं की लागत और कीमतों को नियंत्रित करने, सार्वजनिक व्यय के निर्गमों और परिणामों के इष्टेतम उपयोग के लिए प्रणाली और प्रक्रिया की समीक्षा करने में केंद्रीय मंत्रालयों/ विभागों की सहायता करता है। विभाग की प्रमुख गतिविधियों में वित्त सलाहकारों के साथ इंटरफेस के माध्यम से केंद्रीय मंत्रालयों/ विभागों में व्यय प्रबंधन की निगरानी और वित्तीय नियमों/ विनियमों/ आदेशों का प्रशासन, प्रमुख योजनाओं/ परियोजनाओं का स्वीसकृति-पूर्व मूल्यांकन, राज्यों को व्यापक मात्रा में हस्तांतरित केंद्रीय बजट संसाधनों का प्रबंधन शामिल हैं।

व्यय विभाग को आवंटित कार्य उसके कार्मिक एवं स्थापना प्रभाग, लोक वित्त (राज्यों) और लोक वित्त (केंद्रीय) प्रभागों, महालेखा नियंत्रक, मुख्य सलाहकार लागत के कार्यालयों और केंद्रीय पेंशन लेखा कार्यालय के माध्यम से किया जाता है।

विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण में राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (एनआईएफएम), फरीदाबाद भी आता है, जो एक स्वायत्त निकाय है।